रिश्वत और मारपीट के मामले में नर्स निलंबित

आगर-मालवा। जिला चिकित्सालय के लेखापाल एवं स्टाफ नर्स के बीच रिश्वत के लेनदेन को लेकर विवाद एवं मारपीट की घटना पिछले माह सामने आई थी, जो कई दिनों तक सुर्खियों में रही थी। इस मामले की जांच सीएमएचओ ने दल गठित कर कराई। इसके प्रतिवेदन के आधार पर क्षेत्रीय संचालक स्वास्थ्य सेवाएं उज्जैन ने लेखापाल नरेन्द्र पाराशर एवं स्टॉफ नर्स आराधना भारती को निलंबित कर दिया है। सीएमएचओ डॉ. बीएस बारिया ने बताया कि स्टाफ नर्स भारती से मेडिकल अवकाश स्वीकृत करने एवं वेतन भुगतान के लिए लेखापाल पाराशर ने 20 हजार रुपए की रिश्वत मांगी गई थी। इसके लेनदेन में लेखापाल और नर्स में विवाद हुआ था। इसमें नर्स द्वारा लेखापाल के साथ सुनियोजित तरीके से मारपीट करना सामने आया था। इसके जांच प्रतिवेदन पर दोनों के निलंबन आदेश क्षेत्रीय संचालक स्वास्थ्य सेवाएं उज्जैन ने दिए हैं। निलंबन अवधि में लेखापाल पाराशर का मुख्यालय सीएमएचओ कार्यालय नीमच एवं स्टाफ नर्स भारती का मुख्यालय सीएमएचओ कार्यालय उज्जैन रहेगा।

Leave a Comment