यूडीए की जमीन का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

उज्जैन। इंदौर रोड स्थित करोड़ों रुपए की जमीन का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। प्राधिकरण ने यह जमीन अजहर इंटरप्राइजेस कंपनी को आवंटित की थी। बाद में होईकोर्ट ने कंपनी का आवंटन रद्द कर इसे यूडीए को देने का आदेश किया था। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार किया जा रहा है। इंदौर रोड पर प्राधिकरण ने 43 हजार 407 वर्गमीटर जमीन अजहर इंटरप्राइजेस को आवंटित की थी। बाद में इस जमीन पर कॉलोनी काटने की तैयारी भी कर ली गई थी। इस पर हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई, जिसमें कंपनी को लीज आवंटन का नवीनीकरण करने, नामांतरण और फ्रीहोल्ड करने पर आपत्ति ली गई थी। हाईकोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद जमीन का आवंटन रद्द कर वापस प्राधिकरण को सौंपने का आदेश दिया था। साथ ही प्राधिकरण को इस जमीन पर कब्जा लेने का निर्देश भी दिया था। इस जमीन की मार्केट वेल्यू 65 करोड़ बताई गई है। आवंटन रद्द करने के आदेश को अजहर इंटरप्राइजेस कंपनी ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। इस मामले में मप्र शासन को भी पार्टी बनाया गया है। शासन की ओर से यूडीए द्वारा इस मामले में कोर्ट को आवश्यक जानकारियां दी जा रही हैं। इस मामले में प्राधिकरण के अधिकारी व कर्मचारी कोर्ट को आवश्यक जानकारियां उपलब्ध करा रहे हैं।

Leave a Comment