पोषण वाटिका के पायलेट प्रोजेक्ट का शुभारंभ

आगर-मालवा। कुपोषण से मुक्ति के प्रयास अंतर्गत आगर मालवा जिले में ‘पोषण वाटिका’ का पायलेट प्रोजेक्ट कलेक्टर के मार्गदर्शन में एकीकृत बाल विकास विभाग ने बनाया। इसे स्नीप योजना में स्वीकृति शासन स्तर से मिली है। इसका क्रियान्वयन विश्व बैंक की सहायता से होगा। प्रदेश में यह पहला पायलेट प्रोजेक्ट है। पहले चरण में जिले की 20 आंगनवाड़ियों का चयन किया गया है। इन आंगनवाड़ी केंद्रों के माध्यम से प्रत्येक आंगनवाड़ी केंद्र से 60 ग्रामीण हितग्राहियों को जोड़कर ताजा व हरी सब्जी आंगनवाड़ी केंद्र परिसर में ही वाटिका में तैयार कर इसका उपयोग बच्चों के पोषण आहार में किया जाएगा। इस प्रोजेक्ट का शुभारंभ 14 जुलाई को जिला मुख्यालय के गांधी उपवन के कम्युनिटी हॉल में किया गया। मुख्य अतिथि विधायक गोपाल परमार थे। अध्यक्षता जिला पंचायत अध्यक्ष कलाबाई गुवाटिया ने की। पूर्व विधायक रेखा रत्नाकर, जनपद उपाध्यक्ष मानसिंह गुर्जर, किशोर न्याय बोर्ड सदस्य संगीता देसाई, बाल संरक्षण समिति सदस्य क्षमा गुप्ता, मीना स्वर्णकार, भेरूसिंह चौहान एवं महिला बाल विकास विभाग के प्रभारी कार्यक्रम अधिकारी डिप्टी कलेक्टर केएल यादव उपस्थित थे। पौधे व बीज वितरित कार्यक्रम में उपस्थित प्रोजेक्ट से जुड़ी चयनित 20 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को मोबाइल व हितग्राहियों को पौधे और सब्जियों के पैकेट वितरित किए गए। विधायक परमार ने कहा कि विभाग के अधिकारियों के साथ ही प्रोजेक्ट से जुडे गांव के हितग्राहियों को चाहिए कि इस प्रयास में समर्पण व निष्ठा के साथ कार्य करते इसे सफल बनाएं। पूर्व विधायक रत्नाकर ने प्रोजेक्ट की अवधारणा के लिए जिला प्रशासन एवं विभाग की प्रशंसा की। विश्व बैंक एवं स्नीप योजना के प्रतिनिधि रमेश रामनामी ने पावर पांइट प्रेजेंटेशन के माध्यम से प्रोजेक्ट की जानकारी देते दिसंबर तक की कार्ययोजना बताई। कार्यक्रम अधिकारी यादव ने भी प्रोजेक्ट के पीछे की अवधारणा को बताया। संचालन एमपी एग्रो जिला प्रबंधक ओपी विजयवर्गीय ने किया। आभार परियोजना अधिकारी मनीषा वर्मा ने माना।

Leave a Comment