कार्रवाई होगी पौधों की खरीदी में हुई गड़बड़ी पर

उज्जैन। नगर निगम द्वारा पौधों की खरीदी में भ्रष्टाचार को लेकर छपी खबर के बाद नवागत आयुक्त विजयकुमार जे. ने कहा है कि मामले की जांच करवा रहे हैं। गड़बड़ी करने वालों पर कार्रवाई होगी। मालूम हो कि नईदुनिया ने 3 जुलाई को पौधों की खरीदी में फर्जीवाड़ा होने की खबर प्रकाशित की थी। बताया था कि टेंडर नंबर 3550 और 3551 के मुताबिक 6 से 10 फीट हाईट के 6 इंच मोट तने वाले पौधे खरीदे जाना थे, मगर जोन से जुड़े कुछ अफसरों ने ठेकेदार से सांठगांठ कर पौने 2 से 3 इंच मोटे तने वाले पौधों की ही डिलीवरी प्राप्त कर ली। मामला दबाने के लिए प्लांटेशन के चंद घंटे पहले रात में पौधों की डिलेवरी ली और अगले दिन सुबह उनका रोपण शहर के 6 स्थानों पर करवा दिया। नईदुनिया ने टेंडर में उल्लेखित पौधों की ऊंचाई, मोटाई का मिलान किया तो 90 फीसद पौधों की खरीदी में गड़बड़ी सामने आई। बताया कि 6 से 8 फीट हाईट के पौधे की कीमत 175 रुपए और 10 फीट हाईट के पौधे की कीमत 348 रुपए प्रति नग है। मामले में प्रभारी निगम आयुक्त विशाल सिंह चौहान ने कहा था कि अगर अनुबंधित एजेंसी ने छोटे पौधे भेजे तो भुगतान नहीं होगा। पौधों के भौतिक सत्यापन के बाद उपायुक्त योगेंद्रसिंह पटेल ने सभी जोनल ऑफिसर्स को निर्देश दिए कि जो टेंडर में उल्लेख है, वहीं पौधे लें। शेष तत्काल लौटा दें। किसी भी सूरत में टेंडर शर्त के विपरित डिलीवर हुए पौधे का भुगतान न किया जाए। इस बात को सप्ताहभर गुजर गया, लेकिन न नियम विरुद्घ प्राप्त किए पौधे लौटाए और न भुगतान किया गया। कमजोर पौधों की डिलीवरी लेने वाले इंजीनियरों के खिलाफ कार्रवाई भी नहीं की गई। पौधों की खरीदी में निचले स्तर पर सहायक यंत्री चंद्रकांत शुक्ला और उपयंत्री योगेंद्र गंगराड़े का नाम सुर्खियों में है। नवागत आयुक्त डॉ. विजयकुमार जे. ने मामले की जांच कर गड़बड़ी करने वाले अफसरों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही है।

Leave a Comment